Home न्यूज़ और गॉसिप लॉकडाउन के बीच बॉलीवुड को लगा एक और झटका, जाने माने गीतकार...

लॉकडाउन के बीच बॉलीवुड को लगा एक और झटका, जाने माने गीतकार का हुआ निधन

लॉकडाउन के दौरान बॉलीवुड को एक और झटका लगा। शुक्रवार को हिंदी सिनेमा के वेटरन गीतकार योगेश (Yogesh) का शुक्रवार को निधन हो गया है। 77 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। योगेश ने ‘कहीं दूर जब दिन ढल जाए’ और ‘जिंदगी कैसी है पहेली’ जैसे हिट सॉन्ग के लिरिक्स लिखे थे। कई क्लासिक फ़िल्मों को अपने गीतों से नवाज़ने वाले योगेश को दिग्गज सिंगर लता मंगेशकर ने श्रद्धा सुमन अर्पित किये हैं। लता मंगेशकर का ट्वीट खूब वायरल हो रहा है और लोग इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। 

12 33

लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar Twitter) ने ट्वीट करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा- मुझे अभी पता चला कि दिल को छू लेने वाले गीत लिखने वाले कवि योगेश जी का आज स्वर्गवास हुआ। ये सुनके मुझे बहुत दुख हुआ। योगेश जी के लिखे कई गीत मैंने गाये। योगेश बहुत शांत और मधुर स्वभाव के इंसान थे। मैं उनको विनम्र श्रद्धांजलि अर्पण करती हूं।

योगेश ने बॉलीवुड फिल्‍मों के लिए कई चर्चित गाने लिखे जिनमें ‘कहीं दूर जब ढल जाए’ और ‘जिंदगी कैसी है पहेली’ शामिल हैं। दोनों ही गाने साल 1971 में आई सुपरहिट फिल्‍म ‘आनंद’ का गाना है। इस फिल्‍म में राजेश खन्‍ना और अमिताभ बच्‍चन ने मुख्‍य भूमिका निभाई थी।

बता दें, योगेश ने ऋषिकेश मुखर्जी और बासु चटर्जी जैसे बड़े डायरेक्टर्स के साथ भी काम किया है। योगेश को अपना पहला ब्रेक गीतकार के रूप में फिल्म Sakhi Robin (1962) से मिला, जिसमें उन्होंने छह गीत लिखे। उन्होंने छोटी सी बात (1976), बातों बातों में (1979), मंज़िल (1979), रजनीगंधा (1974), प्रियतमा (1977) मंजिलें और भी हैं (1974) और कई और फिल्मों के लिए गीत लिखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular